Rakesh Kumar r.k.k

*कितना प्यार है तुमसे ….* 💞
*वो लफ्जों के सहारे ….* 😘
*कैसे बताऊँ ….* 💞
*सिर्फ महसूस होते ….* 😘
*एहसासों की गवाही ….* 💞
*कहाँ से लाऊँ ….* 😘वो तो दिवानी थी मुझे तन्हां छोड़ गई;
खुद न रुकी तो अपना साया छोड़ गई;
दुख न सही गम इस बात का है;
आंखो से करके वादा होंठो से तोड़ गई।*परछाई आपकी हमारे ….* 💞
*दिल में है ….* 😘
*यादें आपकी हमारी ….* 💞
*आँखों में है ….* 😘
*कैसे भुलाये हम आपको ….* 💞
*आपका प्यार हमारी साँसों में है ….* 😘*जिंदगी तुझसे हर कदम पर समझोता क्यों किया जाए,**शौक जीने का है, मगर इतना भी नहीं कि मर मर कर जिया जाए।*पढ़ ना लें कहीं
एक दूसरे की
आँखों की उदासी,हम मिलते हैं
अब भी मगर…
नज़रें नहीं मिलाते हैं ।।..❤️..

Author: Rakesh Kumar rkk

_😊मै *😕मतलबी* ❌नही जो 🤝चाहने वालो को *😡धोका दू...........*_ _*↬ⓐ৳」ⓐ∽↫*_ _☝🏻बस, 😊मुझे *🔆समझना 👉हर* किसी के ✊बस की *बात ❌नही है............*_ _

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s