Rakesh Kumar r.k.k

###आज कोई शायरी नही,बस इतना सुन लो 💘💘💘###आज मैं #तनहा हूँ और वजह तुम हो😕😕😕😕❤❣तुम आ जाओ मेरी कलम की स्याही बन कर,
.
मैं तुम्हे अपनी किताब के हर पन्ने में उतार दूं.❤❣कुछ नया लिखने की तलब थी मुझे आज**फिर सोचा कुछ जिक्र कभी पुराने नहीं होते।*हुए बदनाम मगर फिर भी न सुधर पाए हम !**फिर वही शायरी, फिर वही इश्क, फिर वही तुम !!*💕💕💕💕💕💕🌹लोग कहते हैं समझो तो खामोशियाँ भी बोलती हैं……..मैं अरसे से ख़ामोश हूँ वो बरसों से बेख़बर है……..✍🏻

Advertisements

Author: Rakesh Kumar rkk

_😊मै *😕मतलबी* ❌नही जो 🤝चाहने वालो को *😡धोका दू...........*_ _*↬ⓐ৳」ⓐ∽↫*_ _☝🏻बस, 😊मुझे *🔆समझना 👉हर* किसी के ✊बस की *बात ❌नही है............*_ _

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s