Featured

First blog post

This is the post excerpt.

Advertisements

This is your very first post. Click the Edit link to modify or delete it, or start a new post. If you like, use this post to tell readers why you started this blog and what you plan to do with it.

post

Rakesh Kumar r.k.k

###आज कोई शायरी नही,बस इतना सुन लो 💘💘💘###आज मैं #तनहा हूँ और वजह तुम हो😕😕😕😕❤❣तुम आ जाओ मेरी कलम की स्याही बन कर,
.
मैं तुम्हे अपनी किताब के हर पन्ने में उतार दूं.❤❣कुछ नया लिखने की तलब थी मुझे आज**फिर सोचा कुछ जिक्र कभी पुराने नहीं होते।*हुए बदनाम मगर फिर भी न सुधर पाए हम !**फिर वही शायरी, फिर वही इश्क, फिर वही तुम !!*💕💕💕💕💕💕🌹लोग कहते हैं समझो तो खामोशियाँ भी बोलती हैं……..मैं अरसे से ख़ामोश हूँ वो बरसों से बेख़बर है……..✍🏻

Rakesh Kumar r.k.k

ये तो शौक है मेरा ददॅ लफ्जो मे बयां करने का, नादान लोग हमे युं ही शायर समझ लेते है.सब नही करते, ना कर सकेंगे.. नशा शायरी का,**ये तो वो जाम है यारों, जो एहसासों के नवाब पीते हैं,,,,तरस रहे हैं बड़ी मुद्दतों से हम
अपनी मुहब्बत का इज़हार लिख दोदीवाने हो जाएँ जिसे पढ़ के हम
कुछ ऐसा तुम एक बार लिख दो💗लगने दो महफिल आज शायरी की जुबां करते हैं….**तुम गालिब की किताब उठाओ….हम हाले दिल बयाँ करते हैं….।।.. अभी 💞*

Rakesh Kumar r.k.k

☆● #✒ शायरी मेरी हसरत थी जाना उसका शौक।वो शौक पूरा कर गए मेरी हसरतें तोड़ कर। ●☆💔💘😭”दर्द दे कर इश्क़ ने हमे रुला दिया,
जिस पर मरते थे उसने ही हमे भुला दिया,
हम तो उनकी यादों में ही जी लेते थे,
मगर उन्होने तो यादों में ही ज़हेर मिला दिया.”💔💘😭सब मिल जाए तो तमन्ना किसकी करोगे साहिब*….
*अधूरी ख्वाहिशें ही तो जीने का मजा देती हैं* ✍💞 *”दिल से शायरी करना भी कोई मामूली बात नही है दोस्तों..**जितनी गहरी “आह” होगी उतनी ही ज्यादा ‘वाह’ होगी…”*💞💞तुम “आओ” या ना आओ मेरी “ज़िन्दगी” में ये “तुम्हारी” मर्ज़ी…!!💞*
*💞मेरा प्यार “बेइंतेहा” था “बेइंतेहा” है और “बेइंतेहा” रहेगा…!!💞*

Rakesh Kumar r.k.k

जब से “देखा” है…वो एक “चेहरा” तब से हम “घायल” हो गये…..❤
:
“मोहब्बत” से जब…मोहब्बत “मिली”…हम “शायर” हो गये….💕”दिल” टूटा है मेरा
और “ख्वाब” बिखर गये•••”दर्द” मिला “इश्क” मे इतना कि
“जख्मो” से हम “निखर” गये•••💔मुझे अपने किरदार पे इतना तो यकीन है की, कोई मुझे छोड़ सकता है लेकिन भूल नही सकता…!!❤रोने की सज़ा न रुलाने की सज़ा है;
ये दर्द मोहब्बत को निभाने की सज़ा है;
हँसते हैं तो आँखों से निकल आते हैं आँसू;
ये उस शख्स से दिल लगाने की सज़ा है।
❤दिल से…शहर के हर शख्स ने वसीयत में शराफ़त पाई है।**हैरान हूँ मैं सोचकर फिर बेईमानी कहां से आई है।*

Rakesh Kumar r.k.k

🌀शाम खाली है जाम खाली है, ज़िन्दगी यूँ गुज़रने वाली है🌀🌇सब लूट लिया तुमने जानेजाँ मेरा, मैने तन्हाई मगर बचा ली है🌇मार ही डालो एक दफ़ा में ज़हरीला सा कु़छ खिला के..**क्यूँ हल्का हल्का सा नशा देते हो, मोहब्बत मिला मिला के*☆#पहली_मोहब्बत पुराने मुकदमे की तरह होती है,☆☆न ख़त्म होती है और न इन्सान #बाइज्जत_बरी होता है….☆जिंदगी रही तो हर दिन तुम्हे याद करते रहेंगे,
भूल गया तो समझ लेना खुदा ने हमें याद कर लिया*┈┅═◈❀🌹💲🌹❀◈═┅┄**तुम्हें ही सोचेंगी और तुम्हारा ही ख्याल करेंगी**ये ख़ामोशियाँ मेरी देख लेना एक दिन कमाल करेंगी..✍️ ⛦**┈┅═◈❀🌹💲🌹❀◈═┅┄*,•’“’•,•’“’•.
*☞’•,R. K*,•’
`’•,, •’

Rakesh Kumar r.k.k

जाम तो यू ही बदनाम है यारों कभी इश्क करके देखो,
या तो पीना भूल जाओगे या फिर पी-पी के जीना भूल जाओगे!!कितनी आसानी से कह दिया तुमने
की बस अब तुम मुझे भूल जाओ
साफ साफ लफ्जो मे कह दिया होता
की बहुत जी लिये अब तुम मर जाओ💖💖दिल में छुपी यादों में संवारूँ तुझको,
तू दिखे तो आँखों में उतारूँ तुझको,
तेरे नाम को लव पर ऐसे सजाया है,
सो भी जाऊं तो ख्वाबों में पुकारूँ तुझको।💖💖तरस रहे हैं बड़ी मुद्दतों से हम
अपनी मुहब्बत का इज़हार लिख दोदीवाने हो जाएँ जिसे पढ़ के हम
कुछ ऐसा तुम एक बार लिख दो💗💔💔💔
दोस्तों जानता हूँ मशहूर बहुत हे मेरे अल्फाज और शायरी …मगर एक पगली ऐसी भी हे जो मुझसे मनाई नही जाती😭 💔

Rakesh Kumar r.k.k

तरक्की मिल रही हैं… शायरी से,*
*हमें…*
*तुम्हारा जिक्र…. महंगा बिक रहा है..💞काश कोई मिले इस तरह की फिर जुद़ा ना हो**जो समझे मेरे मिजाज़ को और कभी मुझसे खफ़ा ना हो…पढ़ लेना दिल का “दर्द” कहीं…”अल्फाज़”…बदल लेते है “हम”…..*
:
*आंखों में “नमी” आ जाए तो…”आवाज़”…बदल लेते “हम”…..💔मत पूछो मुझसे ये लिखने की वजह.*..*जहा मोहब्बत होती है.. वहाँ वजह नही होती.*..आंखों से भी लिखी जाती है दास्तानें*
*हर कहानी को कलम की जरूरत नहीं होती*